Skip to main content

Posts

Showing posts from March, 2020

&tv के ‘लाल इश्क’ के सेट पर यश पंडित का डरावना स्वागत

ऐसा हर दिन नहीं होता कि किसी का आम दिन एक यादगार दिन में बदल जाये। हाल ही में टेलीविजन एक्टर, यश पंडित का अनुभव कुछ ऐसा ही रहा है, जब वह -ज्ट के ‘लाल इश्क’ के एक एपिसोड की शूटिंग कर रहे थे। पहले भी कई सुपरनैचुरल शोज़ में काम करने की वजह से यह बहुत ही स्वाभाविक सी बात है कि इस जोनर को लेकर यश के मन में खास लगाव है और उन अलग-अलग कहानियों से उन्हें डर ना लगे। लेकिन उन्हें नहीं पता था कि उनके इस लगाव की वजह से उन्हें एक डरावने अनुभव से सामना करना पड़ेगा।  मुंबई में शक्ति मिल कम्पाउंड में एक सीन की शूटिंग के दौरान, यश ने इस जगह के बारे में कुछ डरावनी कहानियां सुन रखी थीं। ऐसा कुछ भी डरावना नहीं हो रहा था, लेकिन जब पूरी यूनिट ने एक रात उनके साथ शरारत करने का फैसला किया तो उनका अनुभव बेहद डरावना था। उस घटना को याद करते हुए, यश कहते हैं, ‘‘इस जगह के बारे में हमने कुछ खौफनाक कहानी सुन रखी थी और वहां शूटिंग करने को लेकर थोड़ा डरा हुआ था। पैक अप के बाद मैं भी पूरी टीम के साथ तुरंत वहां से निकल गया। एक रात हमें थोड़े अलग समय में रात के 3 बजे शूटिंग करनी थी। जैसे ही शूटिंग खत्म हुई, मैं जल्दी-जल्दी घ

शानदार मेलबोर्न की झलक

मेलबोर्न एडवेंचरस, वाइल्डलाइफ लवर्स, फूडीज और रोड ट्रिपर्स के लिए एक परफेक्ट प्लेग्राउंड है। इसने हाल ही में मिथिला पालकर, मंदिरा बेदी, नीती मोहन, शक्ति मोहन, मुक्ति मोहन, पाउला मैकग्लिन जैसी प्रसिद्ध हस्तियों के साथ कई अन्य लोगों की मेजबानी की, जिन्हें मेलबोर्न शहर की लुभावनी सुंदर जगहों का आनंद लेते देखा गया। मेलबोर्न में मशहूर हेलीसेविल सैंक्चुअरी में जाकर ज्यादातर मशहूर हस्तियों ने इकोबैट क्रूज़ का खूबसूरत सूर्यास्त देखा, पेंग्विन परेड में छोटे पेंगुइन के जादू का अनुभव किया और ऑस्ट्रेलिया में ग्लोबल बैलूनिंग में लाइफटाइम एक्सपीरियंस का मज़ा लिया। मेलबोर्न अपने हाइव ऑफ़ बस्टलिंग, क्रिएटिव लेनवेज़, अपने कवर्ट बुटीक, प्रसिद्ध रेस्तरां और होल-इन-द-वॉल कैफे और बार के लिए प्रसिद्ध है। मंदिरा बेदी और मोहन बहनों को मेलबोर्न की छोटी-छोटी गलियों में घूमते हुए देखा गया था, जो कि मेलबोर्न की सड़क कला की कभी-कभी बदलती बाहरी गैलरी पेशकश की लुभावनी साक्षी है।मेलबर्न में अपने अनुभव पर, मंदिरा बेदी ने शेयर किया, “मेलबोर्न में एक्सपीरियंस के लिए बहुत कुछ है! अपनी सुबह को एक्सप्लोर करते हुए इस शहर में

&tv के ‘कहत हनुमान जय श्रीराम’ के बाल हनुमान के 5वें जन्मदिन पर आया विशाल लड्डू

गेंदे के फूल की तरह सुर्ख नारंगी और पीले रंग के खूबसूरत, इस लड्डू को भगवान हनुमान का प्रिय भोग माना जाता है। लड्डू के प्रति ऐसा ही लगाव -ज्ट के ‘कहत हनुमान जय श्रीराम’ के बाल हनुमान, एकाग्र द्विवेदी को है। इस शो के सेट पर सभी कलाकारों और क्रू के साथ अपना शानदार 5वां जन्मदिन मना रहे, एकाग्र को इस दौरान एक सरप्राइज केक मिला, जो आम केक की तरह नहीं था। लेकिन सुर्ख नारंगी और विशाल आकार का यह लड्डू केक देखकर निश्चित रूप से उनकी आंखें खुशी से चमकने लगी थीं।  इस केक ने ना केवल एकाग्र को हैरान कर दिया, बल्कि सारे कलाकार भी यह देखकर चैंक गये थे कि कितनी खूबसूरती से इसे तैयार किया गया था। बाल हनुमान का जो लगाव लड्डू के साथ है वैसा ही एकाग्र को भी है, जिसके लिये इसे तैयार किया गया। हर सदस्य बर्थडे वाली धुनों के साथ गुनगुना रहा था और इस नन्हे कलाकार को अपने हाथों से लड्डू केक खिला रहा था। प्रसन्नता से भरे एकाग्र को खुशी-खुशी इस केक को काटते हुए देखा गया।   इस भव्य सेलिब्रेशन के बारे में बताते हुए एकाग्र कहते हैं, ‘‘मुझे सच में लगा कि वो केक एक लड्डू ही है और लड्डू मुझे बहुत पसंद हैं। मुझे इसे बा

बी4यू , #MindItBoss दें रहा है साउथ इंडियन फिल्मों को नई झलक

  बी4यू , #MindItBoss दें रहा है साउथ इंडियन फिल्मों को नई झलक बी4यू कड़क हमेशा से अपने दर्शकों के लिए कुछ नया और क्रिएटिव करता आ रहा है. इसी कड़ी में  #MindItBo ss  के नए विचार के साथ अपने दर्शकों की गर्मियों को कूल बना रहा है. जब साउथ इंडियन फिल्मों की बात आती है तो लोगों को लगता है कि साउथ फिल्मों की कोई स्टोरी नहीं होती. साउथ फिल्मो को लेकर लोगों की धारणा अलग थी पर कुछ समय से साउथ इंडस्ट्री में बदलाव आया है. साउथ इंडस्ट्री ने अब बॉलीवुड को पीछे छोड़ दिया है.  #MindItBoss, बी4यू कड़क द्वारा सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर चलाया जा रहा एक कम्पैन है, जो पूरी तरह साउथ सिनेमा को समर्पित है, जहां साउथ एक्टर के डॉयलोग्स, डांस मूव्स, और भी बहुत कुछ चीज़ो के बारे में आपको जानने का मौका मिलेगा. बी4यू कड़क ने एक बहुत अच्छा कैम्पेन चलाया है जिसके जरिये साउथ सिनेमा को एक नई झलक मिलेगी. साथ ही दर्शको को साउथ एक्टर को जानने का मौका मिलेगा. साउथ सिनेमा और उसके बारे में जानने के लिए आप  बी4यू कड़क के सोशल मीडिया पेज पर जाकर देख सकते है.

सोनी सब का ‘अलादीन-नाम तो सुना होगा’ में जफ़र का अंत आ चुका हैl

    बगदाद में आखिरकार राहत के संकेत मिले हैं क्योंाकि जफ़र (आमिर दल्वी ) का सच सबके सामने आ चुका है। अलादीन (सिद्धार्थ निगम) और जिनू (राशूल टंडन) के आखिरकार अपने परिवार से मिलने के साथ, हर किसी के बीच खुशियों की लहर है। लेकिन सबकुछ ठीक नहीं है, क्यों कि नई शैतान मल्लिका के साथ अलादीन की जिंदगी में एक और ज्वा लामुखी फूटने वाला है। मल्लिका उसके जीवन में एक नई चुनौती खड़ी करने को तैयार है।  अम्मीी (स्मिता बंसल) जफ़र को मारने की बजाय उसे आजीवन कैद में रखने की सलाह देती है, उसकी बहन जहर, जफ़र को आजाद कराने के अपने मकसद में कामयाब हो जाती है और पारा हासिल कर लेती है। इसकी वजह से मल्लिका को जिंदगी मिल जायेगी। उनका मकसद है कि वह पारा को ज्वाैलामुखी में डाल देंगे, जिससे अंत में मल्लिका के आने का रास्ताे खुल जायेगा। इसी बीच, अलादीन और उसके साथियों को जब जफ़र और जहर की अगली चाल का पता चलता है तो वह उन्हेंख रोकने के लिये उनके पीछे भागते हैं ताकि भारी तबाही ना हो।  भाग-भागकर परेशान हो चुका जफ़र, अपने हाथों में पारा लेकर ज्वाालामुखी में कूदने का फैसला करता है। हर किसी के लिये यह बुरे सपने की तरह