किशोरी बालिकाओं एवं महिलाओं में हर हालत में कम करना होगा एनीमिया - नसीब खांन  


मुरैना। तहसील कैलारस में समय दोपहर 12:00 बजे एनीमिया रोग से संबंधित खंड स्तरीय कार्यशाला आयोजित की गई। कार्यशाला में किशोरी बालिकाओं एवं महिलाओं में 3 से लेकर 5 प्रतिशत एनीमिया को कम करने पर विस्तृत चर्चा की गई जिसमें ठिगनेपन का शिकार बच्चों, कम वजन के बच्चों के प्रतिशत को 3 से लेकर 5प्रतिशत कम किया जा सके। 


कार्यक्रम को संबोधित करते हुए क्षेत्रीय समन्वयक चंबल संभाग सी.आई.डी., सी. एच. ए. आई. नसीब खान ने कहा कि यह लक्ष्य बड़ा है लेकिन असंभव नहीं। जिससे कुपोषित बच्चों की संख्या में कमी आ सके यह लक्ष्य 1 वर्ष में पूरा किया जा सकता है यह बात उन्मुखीकरण कार्यक्रम में कही इस अवसर पर स्वास्थ्य शिक्षा महिला बाल विकास, कृषि खाद्य नागरिक आपूर्ति विभाग के अधिकारियों/ कर्मचारियों के कार्यक्रम में दायित्व पर विस्तृत प्रकाश डाला गया तथा दस्तक अभियान के तहत कुपोषित बच्चों को तत्काल एम.आर.सी. में भर्ती कराने के निर्देश दिए गए। इस अवसर पर बी.एम.ओ. डॉ. एस. आर. मिश्रा, बी.ए.सी.  फखरुद्दीन खांन, सुपरवाइजर प्रतिभा सोनी, मीना शर्मा, मनीषा गोयल,  राहुल परिहार, सुरेश जाटव, यदुवीर सिंह, रामनरेश मुद्गल, आकाश त्यागी, सतेन्द्र दांतरे, संत कुमार पाराशर, मनोज बिजोलिया, मीना शर्मा, सुपरवाइजर रंजना ठाकुर, कुसुम श्रीवास्तव सहित लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग महिला एवं बाल विकास विभाग,  शिक्षा विभाग, कृषि विभाग, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग के अधिकारी कर्मचारी विशेष रूप से उपस्थित रहे । यह कार्यक्रम क्लिंटन फाउंडेशन द्वारा आयोजित किया गया। 


Popular posts from this blog

*Amrita Vishwa Vidyapeetham First Indian University to Partner with EU’s Human Brain Project*

INFRARED LASER THERAPY 101: EVERYTHING YOU NEED TO KNOW

सिन्हा अपने पिता की कल्ट-हिट फिल्म विश्वनाथ के रीमेक का हिस्सा बनने का देख रहे हैं सपना