यूनिवर्सल सोम्पो जनरल इं.कं.लि. “कौशल विकास कार्यक्रम” के तहत बेरोजगार युवाओं को सशक्त बनाने की मुहिम।


भारत के माननीय कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री डॉ. महेन्द्र नाथ पाण्डेय द्वारा बेरोजगार युवको को यूनिवर्सल सोम्पो के ''कौशल विकास कार्यक्रम'' के अंतर्गत प्रमाण पत्र एवं चेक वितरण।



  • कंपनी द्वारा वाराणसी में 110 बेरोजगार युवाओं को सफलता पूर्वक कौशल विकास एवं प्रषिक्षण प्रदान किया गया।


अक्टूबर 2019- यूनिवर्सल सोम्पो जनरल इंश्योरेंस कंपनी लि. द्वारा ''कौशल विकास योजना'' के तहत होटल रेडिसन में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें मुख्य अतिथि भारत के माननीय कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री डॉ. महेन्द्र नाथ पाण्डेय थे।


''कौशल विकास योजना के अन्तर्गत चयनित 110 उम्मीदवारों का यह दुसरा बैच है। इसके पूर्व वाराणसी से 105 उम्मीदवारों को कंपनी द्वारा प्रषिक्षित किया जा चुका है। कंपनी द्वारा पूरे भारत में अबतक 709 उम्मीदवारों को प्रषिक्षित किया जा चुका है।


इस अवसर पर यूनिवर्सल सोम्पो जनरल इं.कं.लि. के अध्यक्ष श्री ओ.एन.सिंह ने कहा कि गॉधी जी ने स्वालम्बी बनाने हेतु कुटीर उद्योग को बढ़ावा दिया, उन्ही के रास्ते पर चलकर हमने स्वालम्बी बनाने हेतु ये कौशल विकास किया। ''हम शिक्षित बेरोजगार युवाओं को प्रषिक्षण प्रदान करके एवं स्वरोजगार प्रदान करके अपने उद्देश्य पूर्ण करने में हम सफल है, इसकी हमें प्रसन्नता है। आजीविका के लिए आय स्त्रोत एवं आत्मनिर्भरता के लिए गैर-नियोजित युवाओं को सशक्त बनाना इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य है। हम इनके पेशे को मजबुत करने के साथ ही देश के अधिकतम नागरीकों तक साधारण बीमा द्वारा जोखिमों को कम करने के साथ ही अनिश्चितता के समय में वित्तीय नुकसान को कम कर सकेंगे, जिससे वे दुर्घटना के क्षणों में स्वयं को सुरक्षित महसुस करें।''


केन्द्रीय मंत्री डॉ. महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने यूनिवर्सल सोम्पो और इसके चेयरमैन श्री ओ.एन.सिंह जी की सराहना करते हुए कहा कि ओ.एन.सिंह जी की नेतृत्व के कारण 10 साल में कंपनी नए आयामों को छुआ है। सबसे अच्छी बात ये है कि कंपनी ने सबसे निचले वर्ग के लोगों बीमा का लाभ पहुँचाया। कौशल विकास कार्यक्रम के बारे में बताया कि कंपनी का इनिसिएटिव सराहनीय है क्योंकि इससे सबसे निचे तबके का विकास होगा और आने वाले समय मे ये लोग अपनी तरह के दूसरे लोगों को भी रोजगार उपलब्ध करायेंगे जिससे देश की अर्थव्यवस्था का सतत विकास होगा। उन्होनें आगे कहा कि देश में बीमा का विकास उतना नही हो पा रहा है जितना कि आवश्यक है। इसका मुख्य कारण प्रशिक्षण का आभाव है। यूनिवर्सल सोम्पो की इस योजना से प्रशिक्षित लोग बीमा के क्षेत्र में आयेंगे जिससे इन लोगों का विकास तो होगा ही साथ ही आम जनता को भी बीमा का लाभ होगा। मुझे बड़ी खुशी है कि यूनिवर्सल सोम्पो ने कौशल विकास योजना के तहत बेरोजगार युवकों को रोजगार देने का बीड़ा उठाया है। इनके इस कार्यक्रम से भारत सरकार की स्किल इंडिया कार्यक्रम को बढ़ावा देने में मदद मिलेगा जिसके द्वारा 5 करोड़ युवाओं को 2020 तक विभिन्न कौशल के लिए प्रशिक्षण देना है। ऐसे कार्यक्रम से देश की बेरोजगारी पर काबु पाने में तेजी से सफलता मिलेगी। एजेंटों को जोड़ना रोजगार बढ़ाने का एक बढ़िया तरीका है।


यूनिवर्सल सोम्पो जनरल इंश्योरेंस के अध्यक्ष श्री ओ.एन.सिंह एवं इसके निदेशक मंडल की प्रशंसा करते हुए केन्द्रीय मत्रीं डॉ. पाण्डेय ने कहा कि यह पहली कंपनी है जो अपने व्यवसाय के साथ-साथ बेरोजगार युवकों के विकास के लिए सदैय तत्पर है। उन्होंने इस कार्यक्रम के तहत चयनित 110 युवाओं को प्रोत्साहन चेक वितरण किया और उनके उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए आशीर्वाद प्रदान करते हुए कहा कि एक एजेंट को अपनी नैतिकता का घ्यान रखना होगा तभी वे सफल एजेंट बनगें। यूनिवर्सल सोम्पो जनरल इं.कं.लि. द्वारा ''कौशल विकास कार्यक्रम'' तहत ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों के बेरोजगार युवाओं को प्रशिक्षण देकर एक एजेंट के रूप में कार्य करने के लिए वित्तिय सहायता और साधारण बीमा उत्पाद बिक्री से प्राप्त कमीशन के माध्यम से उनका जीविकोपार्जन करती है। आई.आरडी.ए.की परीक्षा उतीर्ण करने के लिए कंपनी द्वारा आवश्यक प्रशिक्षण और ज्ञान प्रदान किया जाता है। साथ ही कार्यक्षेत्र के संभावित ग्राहकों से बातचीत बढ़ाने के लिए कौशल विकास का एवं बीमा उत्पाद का प्रशिक्षण दिया जाता है जिसको पूरा करने के बाद उम्मीदवार अपनी क्षेत्र में कार्य करना प्रारंभ करता है। अधिकांश अम्मीदवार अर्ध-शहरी और दुर-दराज के ग्रामीण क्षेत्रों में निवास करते है, इसलिए वे समाज के उन वर्गो तक पहुँच बनाने में सक्षम होंगे जो अबतक साधारण बीमा के जोखिम समाधान से बंचित थे।


इस कार्यक्रम के तहत कंपनी प्रत्येक उम्मीदवार को नए उत्पाद की बिक्री पर नियम के अनुशार कमीशन के अलावा पॉकेट खर्च के लिए रू.-7500 सात हजार पॉच सौ प्रदान करेगी। यूनिवर्सल सोम्पो जनरल इं.कं.लि. के शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों मे फैले प्रशिक्षण केन्द्रो के द्वारा प्रशिक्षण एवं परीक्षा आयोजित किया जाता है।


''कौशल विकास योजना'' के अन्तर्गत कार्यक्रम के शुरूआत के बाद से ही कंपनी ने अबतक 709 बेरोजगार युवकों को कैरियर एजेंट के रूप में प्रशिक्षित करके भर्ती किया है। इस कार्यक्रम का उद्देश्य है कि युवाओं को प्रशिक्षण देकर इस लायक बनाया जाय कि वे वर्ष के अंत तक 15000-20000 तक प्रतिमाह कमीशन आय अर्जित कर सकें।


यूनिवर्सल सोम्पो जनरल इं.कं.लि. के बारे में


यूनिवर्सल सोम्पो जनरल इं.कं.लि.भारतीय साधारण बीमा अद्योग में पहली सार्वजनिक-निजी भागीदारी है। कंपनी का मुख्यालय मुंबई है और साधारण बीमा में निजी और सार्वजनिक क्षेत्र की संयुक्त उद्यम है। इसमें देश के दो प्रमुख बैंक इलाहाबाद बैंक और इंडियन ओवरसीज बैंक साथ ही एक निजी क्षेत्र की कर्नाटका बैंक लि. है। इसके साथ ही एफ.एम.जी.सी कंपनी डॉबर इन्वेस्टमेंट कॉर्प और जापान के एक प्रमुख साधारण बीमाकर्ता सोम्पो जापान निप्पोनकोआ है। यूनिवर्सल सोम्पो जनरल इं. कंपनी के पास 31 मार्च 19 तक समाप्त वर्ष में सकल अर्जित प्रिमियम रू. 2833.53 करोड़ है जिसमें रू. 206.71 करोड़ लाभ अर्जित है। यूनिवर्सल सोम्पो जनरल इं. कंपनी देश की एक प्रमुख बीमा कंपनी के रूप में उभर कर आयी है और पुरे देश में इसकी 17 जोनल कार्यालयों और 86 शखाएँ है। कंपनी ने 1500 लोगो को डॉइरेक्ट और 3000 से अधिक लोगों को एजेंट के रूप में रोजगार दिए है।


Popular posts from this blog

*Amrita Vishwa Vidyapeetham First Indian University to Partner with EU’s Human Brain Project*

INFRARED LASER THERAPY 101: EVERYTHING YOU NEED TO KNOW

सिन्हा अपने पिता की कल्ट-हिट फिल्म विश्वनाथ के रीमेक का हिस्सा बनने का देख रहे हैं सपना