“एक मजबूत नकारात्मक किरदार मुझे हमेशा आकर्षित करता है” - सोनी सब के ‘बालवीर रिटर्न्स’ के बामबाल उर्फ विमर्श रौशन

‘बालवीर रिटर्न्‍स’ को आपने क्‍यों चुना? सोनी सब के साथ जुड़कर आपको कैसा लग रहा है?


मैं हर उस भूमिका का स्वागत करता हूं, जो बतौर कलाकार मुझे प्रभावित करता हो। शक्तिशाली नकारात्मक किरदार की तमन्ना मेरे मन में काफी समय से थी। जब बालवीर रिटर्न्स में मुझे एक नकारात्मक किरदार निभाने का मौका मिला, तब इस फैंटेसी शो की न केवल भारत, बल्कि पूरी दुनिया में लोकप्रियता को देखते हुए मैं काफी उत्साहित था। सोनी सब सही मायने में एक पारिवारिक मनोरंजक चैनल है, जो सकारात्मकता और फील-गुड कंटेंट से भरा है। अपने पसंदीदा चैनल पर एक लोकप्रिय शो में काम करने का मौका मैं अपने हाथ से जाने दे ही नहीं सकता था। मैं ऐसे चैनल पर काम करने का अवसर मिलने का लुत्फ उठा रहा हूं, जिसमें परिवार के सभी उम्र के लोगों के लिए शोज दिखाए जाते हैं। 


फैंटेसी जोनर में क्या आप पहली बार काम कर रहे हैं? अगर हां, तो अब तक का आपका अनुभव कैसा रहा ?


यह पहली बार नहीं है, जब मैं कोई फैंटेसी शो कर रहा हूं। इससे पहले मैंने 2009 में इसी जोनर में एक शो किया था। लेकिन इस बात को एक दशक बीत चुका है, इसलिए अब जब मैं काम कर रहा हूं तो यह एक नया ही अनुभव लग रहा है। फैंटेसी शो में काम करना आपको एक अलग ही अनुभव देता है। बालवीर रिटर्न्स में शामिल होने के बाद जिस चीज ने मुझे सबसे ज्यादा आकर्षित किया है, वह है इसके विजुअल व स्पेशल इफेक्ट्स। एक किरदार के तौर पर मैं इन प्रोजेक्ट्स से सीखने का भी आनंद लेता हूं। इससे मुझे लगातार बदलती टेक्नोलॉजी से भी रूबरू होने का मौका मिलता है।  


बामबाल का किरदार आज तक आपके द्वारा निभाए गए किरदारों से कितना अलग है? बामबाल के बारे में कुछ बताइए। 


बामबाल ताकत का भूखा है और पानी के भीतर बसे शिनकाई साम्राज्य पर हुकूमत करना चाहता है। इस किरदार की कई बातें काफी दिलचस्प हैं। पानी के भीतर बसे साम्राज्य में यह एक काल्पनिक चरित्र है, जो कि भारतीय टेलीविजन पर पहली ही बार दिखाया जा रहा है। 


वह एक लगातार बदलने वाला किरदार है। दर्शक भी उसके कई मूड और कई रंग देखकर अपनी सीट छोड़ नहीं पाएंगे। बामबाल अलग-अलग स्थितियों में भयावह, जिद्दी, सख्त, प्रतिबद्ध, निर्दयी, मजाकिया, चालाक और तीक्ष्ण बुद्धि वाला दिख सकता है। मुझे पूरा भरोसा है कि ये विशेषताएं दर्शकों को वाकई पसंद आएंगी।


इसके अलावा, दर्शकों को बामबाल को तीन अलग- अलग अवतारों में देखने का मौका मिलेगा। खुद वह, जो कि एक एलिगेटर से प्रेरित है, रूप बदलकर आया उसका मजाकिया चेला अघादी और पृथ्वी पर बामबाल। बतौर अभिनेता, उसकी तरह-तरह की भावनाओं को चित्रित करना और अलग-अलग तरह की शख्सियतों को परदे पर उतारना मेरी लिए ऐसा अवसर है, जो कि जिंदगी में कम ही मिलते हैं। 


इस किरदार के बारे में आपको सबसे ज्यादा क्या पसंद है ?


बामबाल के बारे में सबसे दिलचस्प बात यह है कि वह वह एक काल्पनिक छवि लेकर तो चलता है, लेकिन वास्तव में उसके पास कुछ ज्यादा शक्तियां है नहीं। उसकी शक्तियां सीमित हैं। यह उसका खुराफाती दिमाग और चालाकी है, जिसकी बदौलत वह खतरनाक साजिशें रचता है। किरदार का यह पहलू निभाते वक्त मुझे सबसे ज्यादा मजा आया। वह कभी आराम नहीं करता। वह हमेशा अपने मिशन को पूरा करने के बारे में सोचता रहता है।


पानी के भीतर की खूबसूरत दुनिया की कल्पना करते हुए हरे पर्दे के सामने शूटिंग करना कितना चुनौतीपूर्ण था ?


हरे पर्दे के सामने शूटिंग करना आपकी कल्पना को चुनौती देता है, क्योंकि जब आप शूटिंग कर रहे होते हो तब वहां दरअसल कुछ होता ही नहीं है। पहली चुनौती तो यह थी कि मुझे एक ऐसी दुनिया की कल्पना करनी थी, जो मैंने पहले कभी देखी नहीं थी। लेकिन टीम ने मुझे उस दुनिया के बारे में इतना अच्छी तरह से बताया था कि हरे पर्दे के सामने उस दुनिया की कल्पना करना मेरे लिए मुश्किल नहीं रहा।


 


शो में नकारात्मक किरदार निभाने पर आपको कैसा महसूस होता है ?


एक मजबूत नकारात्मक किरदार मुझे हमेशा आकर्षित करता है। ऐसा किरदार निभाते वक्त आपको स्वीकार करना पड़ता है कि लोग आपके किरदार को पसंद नहीं करेंगे। लेकिन शो के जो विलेन होते हैं, वे दर्शकों की जिंदगी का भी हिस्सा बन जाते हैं। आप हमेशा उसकी अगली चाल के बारे में अनुमान लगाते रहते हैं। बामबाल शो में सस्पेंस का पुट भी लाता है और इसी वजह से उसका किरदार निभाना बतौर अभिनेता मुझे ज्यादा रोमांचित करता है।


इस किरदार के लिए कोई खास तैयारी जो आपने की हो ?


मैं अभी भी खुद को एक कलाकार मानता हूं, जो सीख रहा है। मैं उन नए कौशलों व तरीकों को उपयोग कर रहा हूं, जो मैंने अब तक अपने करियर में सीखे हैं। ऐसा कोई किरदार या साहित्य नहीं हैं, जहां से इस किरदार का संदर्भ मिलता हो। इसलिए किरदार के बारे में जानकर जो कुछ भी मैं कर रहा हूं, वह मेरे ही भीतर से आ रहा है। मैं इस बारे में काफी सोचता हूं कि मैं इस किरदार को कैसे निभाना चाहता हूं। मैं बामबाल बन जाता हूं और शॉट से पहले उसके जैसा सोचने की कोशिश करता हूं। 


 


बालवीर रिटर्न्स के प्रशंसकों और दर्शकों को कोई संदेश देना चाहेंगे ?


बालवीर रिटर्न्स एक भारतीय सुपरहीरो है, जिसकी नीतियां और आत्‍मा भारतीय हैं। हम पर अपना प्यार ऐसे ही बरसाते रहिए। आने वाले एपिसोड दर्शको के लिए काफी मजेदार और हैरतअंगेज होने वाले हैं। इंतजार करते रहिए बामबाल की अगली चाल का। 


 


विमर्श रोशन को देखिए कुख्यात बामबाल के रूप में, हर सोमवार से शुक्रवार, रात 8 बजे, सिर्फ सोनी सब पर