Skip to main content

*Villagers in Buxwaha Tehsil of Chhatarpur pledge their support in environment conservation along with promoting sustainable development projects*

 Buxwaha (Chhatarpur), 5th June 2021: On World Environment Day today, villagers in Buxwaha tehsil, Chhatarpur district took a pledge to support sustainable developmental projects in the region along with conserving the environment.



The pledge by the community is an acknowledgment of the balance required between conserving environment and promoting development for the upliftment of social and economic condition of the region by harnessing its true potential.


Villagers from five Gram Panchayats (Teriamad, Beerampura, Majhora,

Gadhoi, and Neemani gram panchayats) of Buxwaha Tehsil in Chattarpur have come forward and joined a campaign, called ‘Paryavaran Sandesh’. 


More villagers are expected to join similar campaigns in the near future.


Under this pledge, the villagers are committed to protect the environment along with promoting sustainable initiatives for development. The villagers have extended a warm welcome to government’s growth projects and initiatives for regional development & industrialization.


As the Government of India moves ahead on the sustainable development agenda, the region provides an important opportunity for implementing growth strategies that are both sustainable and inclusive for fulfilling the agenda of “leaving no one behind”.


The lead taken by the villagers in Buxwaha is an unique example for promoting growth and will be seen as an inspiration story not only for the State but for the whole country.

Popular posts from this blog

छतरपुर जिला चिकित्सालय को मिलेअत्याधुनिक जांच उपकरण एस्सेल माइनिंग द्वारा सी-आर्म, रक्त जांच एवं अन्य उपकरण दान

 छतरपुर की स्वास्थ्य अधोसंरचना को मजबूत बनाने के ध्येय को आगे बढ़ाते हुए एस्सेल माइनिंग द्वारा शुक्रवार को छतरपुर जिला चिकित्सालय में अत्याधुनिक सी-आर्म इमेजिंग डिवाइस, हाई फ़्लो नैज़ल कैनुला समेत त्वरित रक्त जांच उपकरण एवं मोरचुरी फ्रीजर भेंट किया गया।  जिला कलेक्टर श्री संदीप जी आर ने फीता काटकर नई सुविधाओं का शुभारंभ किया। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ विजय पथोरिया एवं अस्पताल के अन्य अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित रहे। नए उपकरणों के साथ छतरपुर जिला चिकित्सालय के सुविधाओं में वृद्धि होने के साथ ही हजारों नागरिकों को नई जाँचों का लाभ मिल सकेगा और त्वरित जांच प्राप्त हो सकेगी।कलेक्टर श्री श्री संदीप जी आर द्वारा इस अवसर पर अस्पताल परिसर में पौधा रोपण भी किया गया।  एस्सेल माइनिंग द्वारा लगातार छतरपुर जिले की स्वास्थ्य सेवाओं को उन्नत बनाने में सतत योगदान दिया जा रहा है। पूर्व में गुरुवार को कंपनी द्वारा बक्सवाहा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को बड़ा मलहरा विधायक श्री प्रद्युम्न सिंह लोधी की उपस्थिति में एडवांस्ड लाइफ सपोर्ट एम्बुलेंस भेंट की गई। वेंटीलेटर जैसी सुविधाओं के सा

*GLENEAGLES GLOBAL HEALTH CITY PERFORMS WORLD’S SECOND SUCCESSFUL PEDIATRIC COMBINED LIVING DONOR LIVER AND KIDNEY TRANSPLANT FOR A RARE GENETIC LIVER DISORDER*

 12-year-old boy with rare liver disease undergoes successful multi-organ transplant making him the 2nd case in the world and 1st in the country Chennai, 7th December, 2021: Gleneagles Global Health City (GGHC), a leading multi-organ transplant centre in Asia, successfully performed India’s first live donor liver and kidney transplant on a 12-year-old who was suffering from a rare genetic disorder – Primary Hyperoxaluria type 2. Master Anish*, a 12-year-old, was referred from Bangalore with renal failure and had been on dialysis three times a week. Doctors in Bangalore had diagnosed him with a rare genetic disorder called Primary Hyperoxaluria (PH) type- II, which is a liver condition that results in accumulation of oxalate in the kidneys, heart and bones and other organ systems of the body. As the disease is primarily based in the liver, these patients need combined liver and kidney transplantation for cure which is a major undertaking, especially in a child.  Across the world, there

World Human Rights Day 2021: आज है विश्व मानवाधिकार दिवस, बारीकी से जानें अपने अधिकारआज मानवाधिकार दिवस मनाया जा रहा है. वर्ष 1950 में संयुक्त राष्ट्र ने हर वर्ष 10 दिसंबर को 'विश्व मानवाधिकार दिवस' मनाना तय किया.

 आज विश्व भर में मानवाधिकार दिवस (World Human Rights Day 2021) मनाया जा रहा है. 10 दिसंबर, 1948 को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने विश्व मानवाधिकार घोषणा पत्र जारी कर प्रथम बार मानवों के अधिकार के बारे में बात रखी थी. वर्ष 1950 में संयुक्त राष्ट्र ने हर वर्ष 10 दिसंबर को 'विश्व मानवाधिकार दिवस' मनाना तय किया.क्या है 'मानव अधिकार'किसी भी इंसान की जिंदगी, आजादी, बराबरी और सम्मान का अधिकार है मानवाधिकार (World Human Rights Day 2021) है. भारतीय संविधान इस अधिकार की न सिर्फ गारंटी देता है, बल्कि इसे तोड़ने वाले को अदालत सजा देती है. भारत में 28 सितंबर 1993 से मानव अधिकार कानून अमल में आया. 12 अक्‍टूबर, 1993 में सरकार ने राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग का गठन किया. World Human Rights Day २०२१ पर राजनेताओं और दिग्गज नामी हस्तियों ने अपने विचार साँझा किये सोशल मीडिया प्लेटफार्म कू पर स्वाति सिंह, कहती है - एकता,सामाजिक-आर्थिक नवीनीकरण और राष्ट्रनिर्माण!!! प्रत्येक व्यक्ति को जाति,धर्म,लिंग,भाषा,राष्ट्रीयता,नस्ल या किसी अन्य आधार पर भेदभाव किए बिना समानता के साथ जीवन जीने का अधिकार है और #