डी.पी. ज्वैलर्स ने इंदौर में अपने स्टोर में डी बीयर्स कोड ऑफ ओरिजिन लॉन्च किया

 इंदौर 12 अक्टूबर, 2021: आने वाले समय के उपभोक्ता बदल रहे हैं और सामाजिक एंव पर्यावरणीय रूप से सचेत उपभोक्ताओं की एक नई पीढी उभर रही है। ये उपभोक्ता ऐसे उत्पादों और ब्रांड्स के साथ जुड़ना चाहते हैं, जिनके सुदृढ वैल्यू लोगों से जुड़े हों और पर्यावरण को बेहतर बनाते हों। ऐसे उपभोक्ताओं की जरूरतों को पूरा करने के लिए, डी बीयर्स ने डी.पी. ज्वैलर्स में अपना विश्वसनीय डायमंड प्रोग्राम कोड ऑफ ओरिजिन लॉन्च किया, जो सुंदर और दुर्लभ डायमंड से बेहतरीन ज्वैलरी बनाते हैं।  


डी बीयर्स कोड ऑफ ओरिजिन एक भरोसेमंद सोर्स प्रोग्राम है जो सामाजिक एवं पर्यावरणीय जिम्मेदारी के प्रति डी बीयर्स की गहरी प्रतिबद्धता को दर्शाता है, जिससे उपभोक्ता को इस बात पर गर्व हो सकता है कि उसके पास जो डायमंड हैं, वे डी बीयर्स से लिए गए हैं। डी बीयर्स कोड ऑफ ओरिजिन इस बात का प्रमाण है कि डायमंड प्राकृतिक और कॉन्फलिक्ट-फ्री हैं और वे डायमंड बोत्सवाना, कनाडा, नामीबिया या दक्षिण अफ्रीका में डी बीयर्स द्वारा खोजे गए थे, जहां डी बीयर्स ने रोजगार, शिक्षा, हेल्थकेयर और वन्यजीव संरक्षण प्रदान करने में मदद की है।

ज्वैलरी के प्रत्येक पीस के साथ 12 अंकों का कोड होता है जिसकी शुरुआत डीबीएम अक्षरों से होती है। इस कोड को प्रत्येक ज्वैलरी के साथ मौजूद डी बीयर्स कोड ऑफ ओरिजिन कार्ड पर भी देखा जा सकता है। यह कोड खरीदारों को यह गारंटी भी देता है कि उनकी ज्वैलरी में लगे डायमंड 100% प्राकृतिक, ट्रेस करने योग्य, सस्टेनेबल तरीके हासिल किए गए हैं।

श्री विकास कटारिया, मैनेजिंग डायरेक्टर, डी.पी. ज्वैलर्स ने कहा कि "डी बीयर्स जैसे ब्रांड के साथ जुड़कर और इंदौर में अपने स्टोर पर कोड ऑफ ओरिजिन' प्रोग्राम को लॉन्च करते हुए हमें बेहद खुशी हो रही है। नैतिक और टिकाऊ प्रथाओं की गारंटी के साथ 0.08 कैरेट और उससे कम की प्रामाणिक नेचुरल ज्वैलरी की पेशकश हमारे उपभोक्ताओं के लिए एक अतिरिक्त लाभ है। "

श्री अनिल कटारिया, प्रमोटर, डी.पी. ज्वैलर्स ने कहा कि "एक ब्रांड के रूप में हम सर्वोत्तम ऑफर देने का प्रयास करते हैं जो हमारे वैल्यू को मजबूती प्रदान करते हैं और हमारे ग्राहकों को लाभ पहुंचाते हैं। हम डी बीयर्स के साथ अपने लंबे समय से चले आ रहे संबंधों को लेकर आशान्वित हैं।"

डी बीयर्स इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर सचिन जैन ने कहा कि "डी बीयर्स ब्रांड अपने भारतीय उपभोक्ताओं के लिए कोड ऑफ ओरिजिन प्रोग्राम लाया है जो हमारे विश्वसनीय रिटेलर पार्टनर्स के जरिये उनकी डायमंड ज्वैलरी के स्रोत और यात्रा के बारे में पूरी पारदर्शिता प्रदान करता है। डी बीयर्स कोड ऑफ ओरिजिन गारंटी हमारे उपभोक्ताओं को न केवल डी बीयर्स डायमंड के मालिक होने और पहनने को लेकर अच्छा अहसास देगी, बल्कि यह आश्वासन भी देगी कि वे डायमंड कार्बन न्यूट्रल के लिए प्रतिबद्ध कंपनी से लिये गए हैं, जो कंपनी अपने 2030 बिल्डिंग फॉरएवर लक्ष्यों के लिए प्रतिबद्ध हैं। डी बीयर्स कोड ऑफ ओरिजिन इंस्क्रिप्शन के साथ एक ज्वैलरी पीस खरीदकर, उपभोक्ता स्वयं हमारे 2030 बिल्डिंग फॉरएवर मिशन में योगदान दे रहे हैं, ताकि दुनिया को एक बेहतर जगह बनाना जा सके।"

डी बीयर्स कोड ऑफ ओरिजिन, बेहतर भविष्य के लिए अपनाये गए ब्रांड के बड़े दृष्टिकोण का हिस्सा है जिसे फलते फूलते समुदायों के लिए साझेदारी करते हुए, प्राकृतिक दुनिया का संरक्षण करते हुए, और समान अवसर में तेजी लाते हुए इंडस्ट्री में अग्रणी नैतिक प्रथाओं के आधार पर 12 स्थायी लक्ष्यों के जरिये तैयार किया गया है। अन्य जानकारी के लिए कृपया https://www.debeersgroup.com/code-of-origin/india देखें।

-समाप्त


संपादकों के लिए नोट:

डीबियर्स ग्रुप के बारे में

1888 में स्थापित, डी बीयर्स ग्रुप दुनिया की अग्रणी डायमंड कंपनी है, जिसकी डायमंड की खोज, रिकवरी और मार्केटिंग में बेजोड़ विशेषज्ञता है। डी बीयर्स और इसके संयुक्त उद्यम, डायमंड वेल्यू चेन में मुख्य रूप से इसके चार ऑपरेटिंग देशों बोत्सवाना, कनाडा, नामीबिया और दक्षिण अफ्रीका में 20,000 से अधिक लोगों को रोजगार देते हैं। डी बीयर्स के पोर्टफोलियों के केंद्र में इनोवेशन है। इस पोर्टफोलियो में डी बीयर्स ज्वैलर्स और डी बीयर्स फॉरएवरमार्क जैसे ज्वैलरी हाउस सहित ग्रेडिंग, चयन और शिक्षा लेबोरेट्री, डी बीयर्स इंस्टीट्यूट ऑफ डायमंड्स और डायमंड सोर्सिंग और ट्रेसबिलिटी इनिशिएटिव, जमफेयर और दूसर शामिल हैं। डी बीयर्स 'बिल्डिंग फॉरएवर के लिए प्रतिबद्ध है, जो बेहतर भविष्य बनाने के लिए समय और एकीकृत दृष्टिकोण है • जहां सुरक्षा, मानवाधिकार और नैतिक अखंडता सर्वोपरि हो, जहा समुदाय फलते-फूलते हो और पर्यावरण की रक्षा होती हो, और जहां सभी को समान अवसर मिलता हो। डी बीयर्स एंग्लो अमेरिकन पीएलसी ग्रुप का सदस्य है। अधिक जानकारी के लिए www.debeersgroup.com पर जाएं।

डी.पी. ज्वैलर्स के बारे में.

1940 में स्वर्गीय श्री धूलचंद जी कटारिया के प्रयासों से शुरू हुए, डी.पी. ज्वैलर्स ने वर्षों से गोल्ड और डायमंड में बहुमुखी डिजाइन के साथ सर्वश्रेष्ठ और बेहतरीन ज्वैलरी पेश करके अपने ग्राहकों का भरोसा हासिल किया है। डी.पी. ज्वैलर्स भारत के चुनिंदा ज्वैलरी ब्रांड्स में से एक हैं, जो स्थानीय ज्वैलरी मार्केट की पेचीदगियों को समझते हैं, और इससे उन्हें समय के साथ विकसित होने में मदद मिली है। संस्कृति से गहरे सरोकार रखने वाले, डी.पी. ज्वैलर्स के पास पारंपरिक और मौजूदा दौर की ज्वैलरी का विविधापूर्ण डिज़ाइन पोर्टफोलियो है। रतलाम में एक घरेलू नाम होने से लेकर, डी.पी. ज्वैलर्स इंदौर, भोपाल, रतलाम, उज्जैन, उदयपुर, कोटा और भीलवाड़ा में पूरी तरह से परिचालित 7 फ्लैगशिप स्टोर के साथ बड़े भारतीय बाजार में अपनी पकड बनाने के लिए धीरे-धीरे विस्तार कर रहे हैं। वर्षों से लगातार बढ़ते निष्ठावान ग्राहकों की जरूरतों को पूरा करते हुए डी.पी. ज्वैलर्स भरोसा, शुद्धता और सम्मान के पर्याय बन गए हैं।

Popular posts from this blog

सोनी सब के ‘काटेलाल एंड संस' में क्या गरिमा और सुशीला की सच्चाई धर्मपाल के सामने आ जाएगी

*Amrita Vishwa Vidyapeetham First Indian University to Partner with EU’s Human Brain Project*

*Meritnation registers impressive growth among Premium Users during lockdown; Clocks Four-Fold growth in Live Class Usage*