कार्निवल फूड्स ने मुकुंद फूड्स के साथ किचन ऑटोमेशन की दुनिया में प्रवेश किया

 नवंबर, 2021, नई दिल्ली: कार्निवल सिनेमाज की सहायक कंपनी कार्निवल फूड्स ने हाल ही में कार्निवल थिएटर में फूड कोर्ट और क्यूएसआर के लिए बैंगलोर स्थित प्रमुख ऑटोमेशन कंपनियों में से एक, मुकुंद फूड्स के साथ कॉलेबोरेट किया है, और ऑटोमेशन सेगमेंट में नयी शुरुआत की। कार्निवल फूड्स की फूड इंडस्ट्री में अच्छी पकड़ है और उन्हें ये आभास है कि फूड बिज़नेस में धीरे-धीरे अच्छी तरक्की मिलती है। उन्हें एहसास है कि फूड बिज़नेस में स्किल्ड लेबर, लगातार क्वालिटी फूड और स्वाद लाने की और कठोर क्वालिटी कंट्रोल को बनाए रखने की बहुत जरूरत होती है और इस प्रकार कंपनी ने सभी आउटलेट्स में लगातार टैस्ट को बनाते हुए अपने ब्रांड रिकॉल वैल्यू को बढ़ाने के लिए किचन ऑटोमेशन में एक उत्तम बदलाव किया है।


ब्रांड के पास क्विज़ीन-स्पेसिफिक सोल्यूशंस हैं जो क्विज़ीन के लिए कुकिंग आसान करने के साथ उबाऊ प्रक्रिया को समाप्त करते हुए एकरसता को तोड़ते हैं। हम आभारी हैं कि ऐड्वैन्स्मन्ट की वजह से किचन ऑटोमेशन टेक्नीक वेन्चर को बढ़ाने में मदद कर रही है। मशीन को रेग्यलैट करने के लिए कर्मचारियों को दिए जाने वाले ट्रैनिंग के प्रयास बहुत कम हो गए हैं। मशीनें ऑटो-असिस्ट हैं, जिससे कोई भी व्यक्ति जो एंड्रॉइड फोन का उपयोग करना जानता है वह इन मशीनों को भी आसानी से ऑपरेट करके स्वादिष्ट भोजन तैयार कर सकता है।

ऑटोमेशन डोमेन के इस नए अभियान पर टिप्पणी करते हुए, कार्निवल फूड, सीईओ, राजीव कुमार, ने कहा, "हर कार्निवल क्यूएसआर हमारे कस्टमर्स के लिए एक सेलिब्रेशन प्लेस है। यह कुछ सबसे पसंदीदा व्यंजन परोसता है, भले ही अगर यह लखनऊ आउटलेट या कोच्चि आउटलेट हो और हमारी कोशिश है कि उन्हें सर्वश्रेष्ठ परोसा जाए। आईओटी के साथ इन्टेलिजेन्ट किचन ऑटमेशन एक महत्वपूर्ण ऐक्सेलरेटर है; जिसमें एआई-बेस्ड स्टैण्डर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (एसओपी) और हाइजीन मॉनिटरिंग सिस्टम एक स्टैण्डर्ड अनुभव देती है। इको-फ्रायर जैसी स्वचालित मशीनों के साथ, वोकी और डोसामैटिक के साथ इन मशीनों की लगभग 80% क्विज़ीन कपैसिटी की वजह से क्यूएसआर स्टोर कुशलतापूर्वक 5-15 विशेष पर्पल फूड्स ब्रांड चला सकता है। ”

कार्निवल फूड्स ने पिछले तीन महीनों में 25 नए आउटलेट खोले हैं और 200 और नए आउटलेट बढ़ाने की योजना बना रहा है। ब्रांड ने मुंबई, कोच्चि, लखनऊ, कोच्चि और कोलकाता में इको-फ्रायर, वोकी और डोसामैटिक जैसे ऑटोमेशन लगाए हैं। वे इस मॉडल को मुंबई में शुरू करके अपने 80 सिनेमाघरों के फूड कोर्ट में लाने की योजना बना रहे हैं।

मुकुंद फूड्स के को-फाउंडर और सीईओ ईश्वर के. विकास से बात करते हुए, उन्होंने कहा, "कमर्शियल किचन को हमेशा ऑटोमेशन की आवश्यकता होती है, लेकिन लोग लंबे समय के फायदे के बारे में नहीं सोच पाते हैं। लेकिन कार्निवल जैसे नए जमाने के ब्रांडों के साथ, अब लोगों का रुझान बदल रहा हैं, और इस तरह के प्रयोग से निश्चित रूप से वे इसका एक जीवंत उदाहरण स्थापित करेंगे कि मल्टी-आउटलेट ब्रांडों के लिए ऑटमेशन क्यों जरूरी है। बहुत कम ब्रांड ऑटोमेशन को दूरदर्शिता से देख पाते हैं और कम टर्नअराउंड टाइम, हाई हाइजीन स्टैंडर्ड, कम से कम अपव्यय जैसे अन्य लाभों को समझ पाते हैं, पर कार्निवल कर सकता था।"

ऑटोमेशन, मार्केट में इंडस्ट्रीज़ को, जब उनके कर्मचारी छुट्टी पर हों, ऑपरेशन स्टाफ में बदलाव हो या नए आउटलेट खोल रहे हों, तब उनकी क्वालिटी से समझौता किए बिना बढ़ने में मदद कर रहा है । इसने ब्रांडों को एसओपी बनाए रखने में मदद करने के साथ-साथ उनके काम को आसान बनाने और फ्लेवर में बदलाव किए बिना एफिशिएंसी को बढ़ाने में मदद की है। कार्निवल फूड्स का मुख्य उद्देश्य सुविधाओं का लाभ लेकर अपने लोगों को उत्तम सेवाएं प्रदान करने के साथ-साथ स्ट्रक्चरल डेवलपमेंट और बिज़नेस को बढ़ाने पर जोर देना है। एक नई दिशा में कार्य की शुरुआत करते हुए, ब्रांड एक ऐसी जगह बनाना चाहता है जहां फूड की इंटरनल ऑपरेशन कन्सर्न या प्रॉब्लम कस्टमर्स की निराशा या गुस्से का कारण न बने, बल्कि वह मुसकुराता हुआ आउटलेट से जाए।