Byloapp.com, हाइपरलोकल मार्केटप्लेस को जोड़ने वाला भारत का अपना गूगल जैसा सर्च इंजन

 डिजिटल दुनिया का प्रमुख हिस्सा बनने में स्वयं को कारगर साबित करने वाला बायलोऐप मुख्य रूप से एक ऐसा मेड इन इंडिया स्टार्टअप है, जिसने अपने सोशियो-कॉमर्स प्लेटफॉर्म के माध्यम से 'डिजिटल इंडिया' पहल में विशेष पहचान बनाई है। वर्ष 2019 में शुरू किए गए बायलोऐप में 10,000 से अधिक बिज़नसेस है, और वर्तमान में यह भारत के 36 शहरों में उपलब्ध है और गूगल सर्च इंजन एवं फेसबुक/इंस्टाग्राम की तुलना में शहरों के मार्केटप्लेस को बेहतर रूप देकर सशक्त बना रहा है। 

अपनी एम.एस.एम.ई-फ्रेंडली डिजिटाइज़ेशन सर्विसेस के माध्यम से सैकड़ों हाइपर-लोकल मर्चेंट्स के बीच कमीशन-फ्री डिजिटल उपकरण प्रदान करने के बाद, Byloapp.com ने हर वर्ग के ग्राहकों और व्यापारियों के लिए अपना स्थान-आधारित सूचनात्मक प्लेटफॉर्म लॉन्च किया है। 



यह स्टार्टअप शहर के ग्राहकों को अपने आस-पास उपलब्ध व्यवसायों को आसानी से ना खोज पाने और सीधा उनसे स्थानीय रूप से खरीददारी कर बचत ना कर पाने की समस्या को हल करता है। Byloapp.com ग्राहकों के लिए उनके लोकेशन के आधार पर एक हाइपर-लोकल मार्केट गाइड के रूप में कार्य कर रहा है। इससे फर्क नहीं पड़ता कि ग्राहक शहर में कहाँ है, प्लेटफ़ॉर्म उन्हें स्थानीय-बाज़ार, उपलब्ध व्यवसायों, उपलब्ध उत्पादों और सेवाओं, लाइव ऑफ़र, छूट और ऑनलाइन व्यापारियों के बारे में सूचित रखेगा और उन्हें एक स्थानीय व्यक्ति की तरह खोज करने, स्थानीय की तरह बचत करने तथा एक स्थानीय की तरह मार्केट से जुड़ने में सहायता करेगा ।

रोहित वर्मा (बायलोऐप के सस्ं थापक और सी.ई.ओ) कहते हैं, "बायलोऐप का अर्थ सीधे तौर पर 'Buy Local & By Location' यानी 'स्थानीय और स्थान के अनुसार खरीदें' से है। हमारे स्टार्टअप के शुरुआती दिनों में, हमारी टीम ने अनऑर्गेनाइज़्ड हाइपर-लोकल एम.एस.एम.ई को डिजिटल रूप से ऑर्गेनाइज़ करने का कार्य बखूबी किया। अब, वे हर घर में 'ऑनलाइन सर्च और ऑफलाइन खरीदारी' व्यवहार को बढ़ाने में जबरदस्त काम कर रहे हैं।"

बायलोऐप ने D2C विज्ञापनों के भविष्य को सशक्त बनाने पर केंद्रित 'बायलोऐप फॉर बिज़नेस' नामक एक मुफ्त DIY-मार्केटिंग टूल पेश किया है। इस टूल ने मर्चेंट्स के लिए इस हाइपर-लोकल मार्केटप्लेस सर्च-इंजन में अपने फिजिकल बिज़नेस का ऑनलाइन पेज बनाने को बेहद आसान रूप दिया है। वे अपनी ब्रांडिंग को प्रदर्शित करते हुए इमेज, लोगो, डिस्क्रिप्शन, प्रोडक्ट्स, सर्विसेस और एक्सेंट कलर्स को जोड़कर अपने बिज़नेस पेज को आकर्षक बना सकते हैं। वे अपने विज्ञापन खाते के समर्पित प्रबंधक की मदद से लाइव ऑफ़र या छूट पोस्ट कर सकते हैं और शहर में विज्ञापन चला सकते हैं। इसका मतलब है कि कोई भी व्यापारी सीधे इन्क्वाइरीज़ जनरेट कर सकता है, इसके लिए उनके बिज़नेस का आकार या बजट मायने नहीं रखता है। और वे अपने बिज़नेस को इस सर्च इंजन पर जोड़ सकते हैं, जिससे कि वे उनके आसपास रहने वाले सैकड़ों निकटतम कस्टमर्स से आसानी से जुड़ सकें।


बायलोऐप के पास ग्राहक और मर्चेंट समुदाय के बीच अपनी पहचान बनाने का एक बड़ा अवसर है क्योंकि फेसबुक/इंस्टाग्राम पर 330 मिलियन से अधिक भारतीय हैं और उनमें से लगभग 39% सीधे खरीदारी-लाभ प्राप्त करने के विश्वास के साथ अमेरिकी प्लेटफॉर्म पर भरोसा कर रहे हैं, जो उन्हें लाभ प्रदान करने में सक्षम नहीं है। साथ ही, भारत में 65 मिलियन से अधिक MSME हैं और केवल 1.5 मिलियन ही अपने लक्षित ग्राहकों तक पहुंचने के लिए Instagram/Facebook For Business जैसे मार्केटिंग और विज्ञापन टूल का उपयोग कर रहे हैं। इसलिए, Byloapp व्यापारी समुदाय के 100% लोगों को रीयल-टाइम लाभ प्रदान करेगा। 



बायलोऐप के बारे में: बायलोऐप भारत का पहला हाइपर-लोकल मार्केटप्लेस सर्च-इंजन और एक फ्री सोशियो-कॉमर्स प्लेटफॉर्म है, जो ग्राहकों को सीधे व्यापारियों से जोड़ता है है और तीसरे पक्ष के हस्तक्षेप को हटाता है। यह स्टार्टअप भारतीयों द्वारा भारतियों के लिए बनाया गया है और भोजन से लेकर फैशन, फिटनेस से लेकर वेलनेस, कपड़ों से लेकर इलेक्ट्रॉनिक्स आदि मार्केट से जनरेट किया कंटेंट प्रदान करता है। बायलोऐप का लक्ष्य अमेरिकी एसकॉम, एमकॉम और ईकॉम कंपनीज़ जैसे गूगल, फेसबुक और अमेज़ॅन के इंडियाफाइड वर्शन्स के माध्यम से हर शहर के असंगठित हाइपर-लोकल मार्केट की अर्थव्यवस्था को व्यवस्थित करना है। अधिक जानकारी के लिए, www.byloapp.com विज़िट करें और हमारी मार्केटिंग टीम से marketing@byloapp.com पर संपर्क करें।

Popular posts from this blog

सोनी सब के ‘काटेलाल एंड संस' में क्या गरिमा और सुशीला की सच्चाई धर्मपाल के सामने आ जाएगी

*Amrita Vishwa Vidyapeetham First Indian University to Partner with EU’s Human Brain Project*

*Meritnation registers impressive growth among Premium Users during lockdown; Clocks Four-Fold growth in Live Class Usage*