Madhya Pradesh: मध्यप्रदेश का जनसंपर्क विभाग आया स्वदेशी ऐप Koo पर, अब घर बैठे पाइए सभी सरकारी योजनाओं की जानकारी

 लोग घर बैठे Koo App पर जनसम्पर्क विभाग की सहायता का लाभ उठा सकते हैं 


 मध्यप्रदेश जनसम्पर्क विभाग ने उठाई जिम्मेदारी, लोगों को मिलेगी पूरी जानकारी


 Koo App मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ, लोकसभा से सांसद नकुलनाथ पहले से ही काफी सक्रीय हैं


 



मध्यप्रदेश, 20 अगस्त: हाल ही में आई बाढ़ और उसके पहले कोरोना के संकट ने मध्यप्रदेश के जनजीवन को काफी प्रभावित किया है | जनजीवन को पटरी पर लाने के लिए और लोगों तक सरकारी योजनाओं की पूरी जानकारी पहुंचाने के लिए मध्यप्रदेश के जनसम्पर्क ने एक बड़ा कदम उठाते हुए Koo App का हाथ थामा है | अब मध्यप्रदेश का जनसम्पर्क विभाग स्वदेशी ऐप Koo के माध्यम से लोगों को सभी जानकारी देता रहेगा और लोगों की मदद करेगा | जनसम्पर्क विभाग से कोई भी सहायता लेने के लिए और सरकार की सभी योजनाओं की जानकारी सबसे पहले पाने के लिए आप भी Koo पर उनके ऑफिशियल हैंडल @JansamparkMP को फॉलो करें। जनसम्पर्क विभाग ने इसका एलान अपने Koo App के ऑफिशियल हैंडल @JansamparkMP पर पोस्ट कर बताया कि अब Koo पर शासन- प्रशासन संबंधी सभी ज़रूरी जानकारी नागरिकों को उपलब्ध करवाई जाएगी | 


 


आपको बताते चलें कि स्वेदशी ऐप Koo पर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ, लोकसभा से सांसद नकुलनाथ पहले से ही काफी सक्रीय हैं और सारे अपडेट्स इस ऐप के जरिए साझा करते रहते हैं।         


जनसंपर्क विभाग कौन सी जानकारियां कराएगा उपलब्ध?


राज्य के सभी नागरिक इस जनसम्पर्क विभाग से Koo App के जरिए प्रदेश में चल रही सभी सरकारी योजनाओ की जानकारी बहुत ही आसानी से प्राप्त कर सकते हैं और सरकारी योजनाओ का लाभ घर बैठे सरलता से उठा सकते हैं | Koo पर जनसम्पर्क विभाग के माध्यम से सरकार द्वारा वार्ड/पंचायत में क्रियान्वित सभी योजनाओं की जानकारी एक ही जगह उपलब्ध करवाई जा रही है। यह सूचना का अधिकार अधिनियम , 2005 की धारा 4(2) को क्रियान्वित करता है । अब लोगों को सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए कहीं जाने की आवश्यकता नहीं है अब राज्य के लोग बड़ी ही सरलता प्रदेश सरकार द्वारा नागरिकों के हित के लिए चलाई जा रही योजनाओं और सेवाओं का लाभ Koo पर जनसम्पर्क विभाग को फॉलो कर के उठा सकते हैं |   


मध्यप्रदेश जनसम्पर्क विभाग का Koo से जुड़ने का उद्देश्य


पहले प्रदेश के नागरिकों को किसी भी प्रकार की जानकारी प्राप्त करने के लिए काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता था फिर भी उन्हें सही ढंग से जानकारी प्राप्त नहीं हो पाती थी। इन सभी समस्याओ को देखते हुए राज्य की सरकार ने Koo के माध्यम से जुड़ने का फैसला लिया है और इसके माध्यम से से राज्य के आमजनों को सरकारी योजनाओ और सेवाओं से जुड़ी सूचनाएं व्यापक रूप से उपलब्ध कराने का फैसला किया|


जनसम्पर्क विभाग -मध्य प्रदेश से Koo पर कैसे जुड़ें


Koo ऐप यूजर्स के लिए मोबाइल ऐप स्टोर पर डाउनलोड करने के लिए उपलब्ध है। यूजर्स के पास अपने मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी का उपयोग करके पंजीकरण करने का विकल्प होता है। एक बार पंजीकरण पूरा हो जाने के बाद, वे Koo पर अपने पसंदीदा हस्तियों, एथलीट, राजनेताओं, फिल्म और कला जगत के लोगों और आध्यात्मिक गुरुओं का अनुसरण कर सकते हैं। Koo यूजर्स को उनकी मूल भाषाओं में संवाद करने में मदद कर के उन्हें सशक्त बनाता है।


 


Koo के बारे में


Koo App की शुरुआत मार्च 2020 में भारतीय भाषाओं के माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म के रूप में की गई। कई भारतीय भाषाओं में उपलब्ध इस ऐप पर भारत के विभिन्न क्षेत्रों के लोग अपनी मातृभाषा में अपने विचार व्यक्त कर सकते हैं। एक ऐसे देश में जिसकी सिर्फ 10% आबादी अंग्रेजी बोलती है, वहां एक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की बड़ी आवश्यकता है जो भारतीय लोगों को उनकी भाषा में बात करने का अनुभव प्रदान कर सके और उन्हें कनेक्ट करने में सहायता कर सके। कू उन भारतीयों की आवाज़ के लिए एक मंच प्रदान करता है जो भारतीय भाषाओं को पसंद करते हैं।

Popular posts from this blog

*Aakash Institute Student Akanksha Singh from Kushinagar (UP) Secures AIR 2nd Nationally in the NEET 2020 Examination; Scores Highest ever marks in NEET’s history, Top Score at National Level, Becomes Inspiration for many Girls in Purvanchal*

सोनी सब के ‘काटेलाल एंड संस' में क्या गरिमा और सुशीला की सच्चाई धर्मपाल के सामने आ जाएगी

*Amrita Vishwa Vidyapeetham First Indian University to Partner with EU’s Human Brain Project*